Search
  • Abhilasha Jain

CORONA CORONA CORONA

।। कोरोना, कोरोना, कोरोना ।।


क्या है यह कोरोना ? बड़े-बड़े वैज्ञानिक, चिकित्सक लगे हैं इससे बचने के उपाय ढूंढने में पर किसी ने विचार किया है इस ओर, क्यों हो रहा है यह सब ? क्यों आ रही है बार-बार प्राकृतिक आपदाएं ?

किसी भी कार्य या वस्तु की अति होने पर प्रकृति संकेत करती है और नहीं समझने पर प्रकृति स्वयं इस अति की इति करती है !

प्रलय कारी भूकंप, सुनामी से तो फिर भी हम सैकड़ों बलिदान के पश्चात बच गए पर अब.....! सबके मन में जो डर समा गया है डर ही नहीं हकीकत भी है कहां जाएंगे हम सब ? कैसे अपने आप को सुरक्षित रखेंगे ? कौन लड़ेगा कॉम की लड़ाई ? कोनसा देश किस देश का दुश्मन होगा ? जब कोई भी नहीं बचेगा ! बार-बार राष्ट्र से हिदायतें दी जा रही है सभी अपने अपने तरीके से बचने के उपाय में लगे हैं पर सत्य की और किसी की दृष्टि नहीं गई है!

हां!! यह सत्य है!! कड़वा सत्य!! जब जब धरती पर पापाचार बढ़ा है, मानव ने संस्कृति के विरुद्ध कार्य किया है, तब-तब यह धरती मां कांप उठी और प्राकृतिक आपदाओं के द्वारा सब को तहस-नहस कर डाला पर हम मानव फिर भी नहीं सुधरे! पहले घने जंगलों को नष्ट किया और अब मूक प्राणियों की बलि चढ़ाने लगे और अपने उदर को ही कब्रिस्तान बना डाला ! आज हमें हिंदू मुस्लिम का भेद मिटा कर जरूरत है एक होने की ! जरूरत है इंसान बनने की।

हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई, महावीर के सिद्धांतों को अपना लो रे भाई!

भगवान महावीर सिर्फ जैनों की ही धरोहर नहीं है, अपितु जन जन के महावीर है। उनके आदर्शों को पूरे विश्व में पहुंचाना है, उनके मन में बैठी करुणा से कोरोना को भगाना है। उनका मुख्य संदेश

जियो और जीने दो !

बंद करो यह निरीह पशुओं की हत्या ! इन पशुओं की चीत्कार से मानव का दिल नहीं दहला तो धरती मां कांप उठी ! कब तक सहन करेगी यह अत्याचार ? बार-बार हमें सतर्क किया पर हम नहीं सुधरे आज यह कोरोना का रूप लेकर हमारे सामने आई है और पूरे विश्व में हाहाकार मचाया है ! अगर हमें कोरोना वायरस से पूरे विश्व के लोगों को बचाना है, तो सभी को संकल्पित होना होगा, पूर्ण रूप से मांसाहार का त्याग करना होगा ! कत्लखाने बंद करवाने होंगे ! जब हम जीवो पर करुणा करेंगे तो वह हमारे ऊपर फेले कोरोना को दूर करेंगे ! अंडे को शाकाहार बताना बंद करें ! उन पशुओं में भी हमारे जैसी आत्मा है, जो भगवान बनने की शक्ति रखती है। भगवान महावीर कहते हैं, हम सब भगवान बन सकते हैं। उस परमात्म पद को प्राप्त करने के लिए जिसे भगवान ने प्राप्त किया उस शक्ति को प्रकट करें और पहल करें छोटे-छोटे नियमों के माध्यम से...।।।

घुटने के बल चलते चलते पांव खड़े हो जाते हैं, छोटे-छोटे नियम 1 दिन बहुत बड़े हो जाते हैं !

भगवान महावीर के संदेशों को जन-जन तक पहुंचाएं ! मांसाहार का त्याग कर पूर्ण शाकाहार अपनाएं !! अगर आप इस बात से सहमत है तो इस मेसेज को जन जन तक पहुंचाए, महावीर के संदेशों को फैलाए।।।


जय जिनेन्द्र


- नीलकमल



#गोकोरोनागो #GoCoronaGo #IndiafightsCorona

142 views0 comments

Recent Posts

See All

सरकार से विनम्र निवेदन

जैन धर्म जो अहिंसा का सबसे बड़ा पुजारी है, जिनके साधुगण पूर्ण परिग्रह का त्याग कर भगवान बनने का पुरुषार्थ कर रहे हैं, मानो इस धरती के भगवान ही हैं! भगवान के द्वारा बताए गए पांचों पाप - हिंसा, झूठ, चो